मैं तेरी दुश्मन, दुश्मन तू मेरा मैं नागन तू सपेरा

1986 की फिल्म नगीना का ‘मैं नागिन तू सपेरा’ गीत नृत्य, संगीत और अभिनय का अद्भुत संगम है । तकरीबन एक दर्जन सपेरे मिलकर बीन बजा रहे हैं। नायिका श्रीदेवी जो एक इच्छाधारी नागिन भी है बीन की धुन पर मदहोश हो रही हैं । बीन की धुन इतनी अधिक आकर्षक है कि नाग-नागिन ही क्या आम इंसान भी सुध बुध खो दे। श्री पहली मंजिल पर स्थित अपने कमरे की किवाड़ खोलकर बाहर आती है और उसी मदहोशी में सीढ़ियों से उतरकर लिविंग रूम में प्रवेश करती है । तांत्रिक सपेरे बने अमरीश पुरी और नागिन बनीं श्रीदेवी किसी जानी दुश्मन की तरह एक दूसरे की आंखों में आंखें डालकर देखते हैं और पल भर में ही घर की बैठक किसी खूबसूरत रंगमंच में तब्दील हो जाती है। 

फिल्म में नायिका रजनी (श्रीदेवी) राजीव (ऋषि कपूर) की पत्नी बनी हैं . एक तांत्रिक है भैरोनाथ (अमरीश पुरी) जो रजनी की सास को यह यकीन दिलाता है की उसकी बहू एक इच्छाधारी नागिन है. तांत्रिक को नागिन से मणि चाहिये. एक दिन राजीव की अनुपस्थिति में रजनी की सास से सांठ गाँठ कर वह तांत्रिक उस इच्छाधारी नागिन को वश में करने के लिये अपने चेलों के साथ हवेली पर आ धमकता है. यह गाना ठीक इसी बेकग्राउंड में फिल्माया गया है. 


श्रीदेवी की भाव-भंगिमाओं और उनके शरीर की अद्भुत लयात्मकता को देखकर एक बारगी यही महसूस होने लगता है कि श्री सच में वही इच्छाधारी नागिन हैं जिसके बारे में हम मनोहारी लोक कथाओं और किवदंतियों में सुनते आए हैं। यह गीत उनकी शानदार अदायगी का टुकड़ा है। इस गीत में श्रीदेवी जिस फुंकार के साथ मुद्राएँ बना  रही हैं लगता है कोई शक्ति ( स्त्री ) तांडव कर रही है । अमरीश पुरी भी श्री को जबर्दस्त टक्कर दे रहे हैं। जितना उम्दा इन दोनों कलाकारों का अभिनय है उतना ही मधुर इस गीत का संगीत भी है। संगीत पर ध्यान देंगे तो गली मोहल्लों में शादी ब्याह के अवसर पर जो गीत गाए जाते हैं उनकी थाप भी आपको सुनाई देगी । 

इस गाने से जुडा हुआ एक दिलचस्प किस्सा भी है . ‘मैं नागिन तू सपेरा’ गाने की शूटिंग फिल्म के आखिरी दिन हुई थी. सुबह जिस दिन गाने की शूटिंग शुरू हुई उस वक़्त ‘नगीना’ फिल्म का सेट तोड़ा जा रहा था. वहां अगली फिल्म ‘निगाहें’ के लिये सेट लगाया जाना था. आपको जानकार हैरानी होगी की नगीना के सेट की केवल एक दीवार के साथ इस गाने की शूटिंग पूरी की गयी. 


नगीना फ़िल्म का यह गीत आंनद बख्शी ने लिखा था , संगीत लक्ष्मीकांत प्यारेलाल ने दिया था और स्वर लता मंगेश्कर के थे। इस गीत का नृत्य निर्देशन मास्टरजी सरोज खान ने किया था । श्रीदेवी और अमरीश पुरी के लिबास, मेकअप और गीत की साज-सज्जा सब कुछ आपको लुभाता है। ‘मैं तेरी दुश्मन’ केवल गीत नहीं है गीत संगीत और कलाकारों से सजी हुई पूरी नृत्य नाटिका है। इस गीत को सबसे बेहतरीन नागिन नाच में शुमार किया जाना चाहिए। आपको मालूम होगा राजस्थान की कालबेलिया जनजाति नागिन नृत्य के संदर्भ में जानी जाती है। हिन्दी फिल्मों में अब न तो बीन की यह धुन सुनाई देती है और न ही नागिन की यह लहरिया दिखाई देती है । 

pic credit google

Matinee Box Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *