‘सुबह सुबह जब खिड़की खोले बाजू वाली लड़की’ बिजय ए. आनंद

गाने हिंदी फिल्मों की नब्ज़ हैं जैसे बगैर नमक के खाना और बगैर शक्कर का हलवा नहीं जँचता ऐसे ही बॉलीवुड की कोई फ़िल्म बगैर गानों के पूरी नहीं होती। बॉलीवुड में 90 का दशक अपने सुपरहिट संगीत के लिए भी जाना जाता है। बहोत से गाने ऐसे थे जो युवाओं के एंथम बन चुके थे। इन्हीं में एक छेड़छाड़ भरा, प्यार भरा गाना था ‘सुबह सुबह जब खिड़की खोले बाजू वाली लड़की हाय.. दिल मेरा बोले हेल्लो हाउ आर यू।’ फ़िल्म का नाम था ‘यश’ और जिस अभिनेता पर यह गीत फिल्माया गया वो थे बिजय आंनद।

 जी हां ये वहीं बिजय आनंद हैं जिन्होंने हिट फिल्म ‘प्यार तो होना ही था’ में काजोल के प्रेमी की भूमिका निभाई थी। जिसे पाने के लिए कॉजोल अपना सब कुछ छोड़कर अपने सपनों को भूलकर विदेश से भारत आ जाती हैं। इस गीत नें 90 के दशक में खूब धूम मचाई यह गीत युवाओं में खूब पॉपुलर हुआ। मजाक में कहा तो यह भी जाता है की जितने इस फ़िल्म के ऑडियो कैसेट बिके उतना तो इस फ़िल्म के टिकिट भी नहीं बिके थे। खैर, ‘यश’ फ़िल्म का यह गीत कितना ही हिट हुआ हो लेकिन यह फ़िल्म बुरी तरह फ्लॉप हुई थी । दरअसल शुरुआत में ‘यश’ एक टेलीफिल्म थी लेकिन बहोत जल्दबाज़ी में इसे एक पूरी कमर्शियल फिल्म के तौर पर बनाया गया और बहोत सी खामियों और सुस्त पटकथा के चलते यह फिल्म बुरी तरह फ्लाप हुई । बिजय आनंद इस गीत के बाद युवाओं में एक जाना पहचाना चेहरा जरुर बने लेकिन इससे उनके करियर को बूम करने में इससे कोई खास मदद नहीं मिली।

बिजय एक मॉडल एक्टर थे उन्होंने बहोत से टीवी सीरियल्स में भी काम किया। उनके पास फिल्मों के ऑफर थे लेकिन ठीक उसी मोड़ पर बगैर अपने करियर की परवाह किये उन्होंने फिल्मों से ब्रेक लिया और आध्यात्म की और मुड़ गए। बहोत सालों के अंतराल के बाद वे टीवी सीरियल ‘सिया के राम’ में सीता के पिता जनक की भूमिका में नजर आए।

तो दोस्तों ऐसे ‘वन टाइम वंडर’ जिनकी पहली फ़िल्म, पहला गीत इतना अधिक फेमस हुआ कि वह सालों बाद भी हमारी यादों का हिस्सा बना हुआ है; ऐसे कलाकारों की एक लंबी फेहरिस्त है उस पर फिर कभी बात करेंगे। ऐसी ही दिलचस्प ख़बरों का जायका लेने के लिये आप जुड़े रहिये मैटिनी बॉक्स के साथ. 

pic credit google

मैटिनी बॉक्स डेस्क

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *